Art Silk Saree Details in Hindi | आर्ट सिल्क साड़ी की जानकारी

                      

                          कई भारतीय महिलाओ की अलमारी विभिन्न प्रकार की साड़ियों से भरी पड़ी है | ये सभी साड़ियाँ  अलग -अलग तरह की विशेषता लिए हुए रहती है | जैसे इन साड़ियों पर की गई हस्तकला , साड़ी की बनावट , साड़ी की बुनाई की कला ,  साड़ी का कपडा आदि विशेषताएं इन साडीयो को एक दूसरे से भिन्न बनाती है | हम हमारे ब्लॉग में निरंतर अलग - अलग साड़ियों की संपूर्ण जानकारी संक्षिप्त में दे रहे है | इसी कड़ी में हम आज आपको आर्ट सिल्क साड़ी ( Art Silk Saree ) की जानकारी दे रहे है | 



Image Source - Amazon.in 



                          आर्ट सिल्क साड़ी को परिभाषित करे तो हम कह सकते वह साड़ी जिसे बनाने के लिए कृत्रिम रेशम का प्रयोग होता है आर्ट सिल्क साड़ी कहते है | इस कृत्रिम रेशमी कपडे को Royan Febric  के नाम से भी जाना जाता है | शुद्ध रेशम से बनी साड़िया प्राकृतिक रेशमी कपडे से बनाई जाती है ,  उस कपडे की बुनाई और उत्पादन प्रक्रिया बोहत महँगी होती है , इसलिए शुद्ध रेशम की साड़ी बोहत महँगी होती है | परन्तु आर्ट सिल्क साड़ी में कृत्रिम रेशम का प्रयोग किया जाता है | जिसका उत्पादन तथा बुनाई प्रक्रिया भी आसान है | अतः यह साड़ी बोहत सस्ती होती है | 



                          हालाकि पहले इसे आर्ट रेशम के नाम से नहीं बेचा जाता था | कहते है पहला सिंथैटिक फाइबर नायलॉन 1930 के दशक में सयुक्त राज्य अमेरिका में तैयार किया गया और द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान जापानी रेशम को प्रतिस्थापित करने के लिए उपयोग किया जाता था | 



Image Source - Amazon.in 



                          शुद्ध रेशम की साड़ियों की बुनाई हाथ के द्वारा होने के कारण इसकी बुनाई असामान्य हो सकती है परन्तु आर्ट सिल्क साड़ी की बुनाई एक सामान  होती है क्यों की यह मशीन से बनाई जाती है आर्ट सिल्क साड़ियां छूने में मुलायम  होती है | तथा वजन में हल्की होती है | यह साड़ियां शुद्ध रेशम की साड़ियों की तुलना में सस्ती होती है तथा इन साड़ियों का रखरखाव भी काम होता है | 

कोई टिप्पणी नहीं:

Blogger द्वारा संचालित.