Chanderi Saree Details In Hindi | Chanderi Silk Saree | चंदेरी साडी की जानकारी

                   आज की पिढी या इसके पहले की पिढी या यह कह सकते हे की प्राचीन काल से ही महिलाओ में साड़िया पहनने का क्रेज रहा है , परन्तु वक्त के साथ साड़ी की पसंद , साड़ी की कीमत , साड़ी पहनने का तरीका तथा साड़ी की डिज़ाइन आदि में बोहत अधिक अंतर आया है | इसी को ध्यान रखते हुए हम आपको विभिन्न प्रकार की साड़ी की जानकारी देते रहेंगे | इसी के अन्तर्गत आज हम आपको चंदेरी साड़ी (Chanderi Saree ) की जानकारी देने जा रहे है | 

Chanderi Silk Saree
Image Source - Amazon.in 


                      चंदेरी यह एक पारम्परिक एथिनिक फेब्रिक है , इसकी विशेषता यह हे की यह वजन में हल्की तथा इसकी बनावट बोहत बढ़िया और शानदार होती है | चंदेरी के कपडे पारंपरिक सूती धागे में रेशम और सुनहरी जरी से बनकर तैयार किये जाते है | चंदेरी यह मध्यप्रदेश की फेमस साड़ी है | मध्यप्रदेश के छोटे से शहर चंदेरी में यह साड़ी निर्मित की जाती है | इस साड़ी की खासियत  की इसे आज भी हथकरघे पर बुना जाता है | इस साड़ी का अपना इतिहास रहा है , पहले ये साड़ी बड़े - बड़े राजघराने की महिलाये या सम्पन्न परिवार की महिलाओ द्वारा ही पहनी थी तथा यह आम लोगो की पहुंच से बोहत दूर थी , परन्तु जैसे - जैसे वक्त बदला अब साड़ी आम लोगो तक भी पहुंच चुकी है | कहते है चंदेरी साड़ी को बनाने में बोहत अधिक दिन लगते है , अतः कारीगर इस साड़ी को बाहरी नजर से बचाने के लिए हर मीटर पर एक काजल का टिका लगाते है |  

                   चंदेरी साडीया  हमेशा अपने हल्के रंगो के लिए लोकप्रिय रही है , परन्तु आजकल कुछ आधुनिक कलर की साडिया जैसे नेवी ब्लू , सफ़ेद , लाल , काला आदि कलर से भी सुशोभित है | 

                   साड़ी की डिज़ाइन में चंदेरी कपडे पर दिखाई देने वाली रूपांकनों को हाथ के द्वारा बुना जाता है , जिसे बुनने के के लिए अलग -अलग तरह की सुइयों का प्रयोग किया जाता है | चंदेरी के कुछ फेमस आकर्षक रूपांकनों की बात करे तो इसमें जंगला , अशरफी , बूंदी , चुरी , केरी आदि है | 


चंदेरी साडी
Image Source -Amazon.in 


                  यह साड़ी हल्की होने के कारण गर्मी के साथ -साथ शादियों में या पूजा पाठ आदि मे पहनने के लिए प्रथम विकल्प होना चाहिए , अतः चंदेरी साड़ी की इन्ही खूबियों के कारण यह देश के साथ -साथ विदेश में भी बोहत अधिक फेमस है | International  Market में इसकी डिमांड हमेशा बनी रहती है | 

                  चंदेरी सिल्क साड़ी ( Chanderi Silk Saree ) के बनावट के हिसाब से इसकी विशेष देखभाल की आवश्यकता होती है | इस पर किये गए बारीक़ काम को सुरक्षित रखना चाहिए तथा सीधे धुप में ना सुखाकर छाया में सुखाना चाहिए | 

                         

                          

                           

                                  

कोई टिप्पणी नहीं:

Blogger द्वारा संचालित.